कभी कभी किसी से शिकायत करने से बेहतर ये है की क्यों न इस बार सबर कर लिया जाये..!

काश!  आपको भी पता होता आपके बगैर दिन कितना बुरा गुजरता है...

समझता कोई नहीं,  समझाते सब है......!!

नए साल में नयी मोहब्बत करेंगे,  तेरे इंतज़ार का ये आखरी साल है...

टुटे सपने के साथ खुली है नींद, लगता है आज का दिन फिर चुभेगा

हस्ते हुए जो रोया होगा, यकीन मानो, उसने बहुत कुछ खोया होगा!

नाराज़गी तो बहुत दूर की बात है  हमे तुमसे कोई उम्मीद भी नहीं है.!!

For More Shayari